Ratings & Reviews

Harsingar

Harsingar

(4.00 out of 5)

Review This Book

Write your thoughts about this book.

1 Customer Review

Showing 1 out of 1
Mridulendu 5 years, 5 months ago Verified Buyer

Re: Harsingar

इस संकलन को पढ़कर आनंद आ गया. रोचक और नयी अनुभूतियां काफ़ी दिनों बाद किसी हाइकू संग्रह में पढ़ने को मिली. कवयित्री को
साधुवाद और भविष्य की शुभकामनाएं।