You can access the distribution details by navigating to My pre-printed books > Distribution

(1 Review)

Meri JiwanYatra (eBook)

An Autobiography of A Retired Railway Employee
Type: e-book
Genre: Biographies & Memoirs
Language: Hindi
Price: ₹50
(Immediate Access on Full Payment)
Available Formats: PDF

Also Available As

Also Available As

Description

दिगम्बर साव ने साल 1958 से 1994 तक भारतीय रेलवे के साउथ-ईस्टर्न डिविजन में सेवा की थी। इस दौरान वे दक्षिणी बिहार (अब झारखण्ड) से लेकर उड़ीसा तक विभिन्न स्टेशनों- ज्यादातर छोटे- पर तैनात रहे। यह इलाका आदिवासी बहुल तथा खनिज-सम्पदा से समृद्ध है। यहाँ की यादों को संजोते हुए उन्होंने अपनी यह आत्मकथा लिखी है।

इसके अलावे, जिस अड़ुआपाड़ा नामक गाँव में उनका जन्म हुआ था तथा बचपन बीता था, वहाँ की भी बहुत-सी यादें हैं। विभाजन के बाद यह गाँव पूर्वी पाकिस्तान (अब बाँग्लादेश) में चला गया था। इसके बाद बेलघरिया (प. बँगाल) में बीते कैशोर्य की तथा बरहरवा (झारखण्ड के सन्थाल-परगना में) में बीते यौवन की कुछ यादें भी इस आत्मकथा में समाहित है।

कुल-मिलाकर, जीवन के प्रायः हर रस, हर रंग का समावेश इसमें है- कहीं हर्ष है, तो कहीं विषाद; कहीं संघर्ष है, तो कहीं सुख-चैन।

लेखन-शैली प्रवाहमयी है, आत्मकथा रोचक है।

Book Details

Publisher: Jagprabha Publication
Number of Pages: 95
Availability: Available for Download (e-book)

Ratings & Reviews

Meri JiwanYatra

Meri JiwanYatra

(5.00 out of 5)

Review This Book

Write your thoughts about this book.

1 Customer Review

Showing 1 out of 1
kumari.neha.0706 1 month, 3 weeks ago Verified Buyer

Love the book

Love the experience shared by the writer. The thing which I most loved is the translation from Bangla to Hindi. I usually don't like translated books as I feel, it loses it original flavour but in this book, I feel the experience of writer because of good translation.

Other Books in Biographies & Memoirs

Shop with confidence

Safe and secured checkout, payments powered by Razorpay. Pay with Credit/Debit Cards, Net Banking, Wallets, UPI or via bank account transfer and Cheque/DD. Payment Option FAQs.