You can access the distribution details by navigating to My pre-printed books > Distribution

लय: फूल और शूल (eBook)

Type: e-book
Genre: Poetry
Language: Hindi
Price: ₹50
Available Formats: PDF Immediate Download on Full Payment

Also Available As

Also Available As
Description of "लय: फूल और शूल"

जीवन में संतुलन साधने की चुनौती जीवन पर्यन्त बनी रहती है। व्यक्ति निरन्तर अपने अनुभवों को संरचित व पुनर्संरचित करते हुए अपने जीवन में लय की खोज करता रहता है। संवेदनाएं, अनुभवों की ग्रहणशीलता व शार्टकट अपनाने से उपजी विमुखता जीवन में उम्मीदों (फूलों) और आशंकाओं या पीड़ा (शूलों) की उत्पत्ति को बढ़ाते या घटाते हैं। पीड़ान्तक स्वर व आचरण भी जीवन-फूलों की सरसता उपजाते हैं। हमारे दिलोदिमाग में जीवन शूल तैरते रहते हैं व उनकी चुभन वक्त के तकाजों के रूप में बदलती रहती है। वैचारिक असमानताओं की खाई वेदना-शूलों में बदल सामाजिक समरसता को कुप्रभावित करती रहती है। प्रस्तुत काव्य-संकलन जीवन के शूलों को जीवन के फूलों में रूपान्तरित करने में कामयाब कर जीवन को लययुक्त कर सकेगी।

About the author(s)

करुणा शंकर मिश्र जन्म तिथि: 15 जनवरी, 1955,जन्म स्थान: मैनपुरी (उ0प्र0), शिक्षा: एम.एससी., एम.एड., पीएच.डी.व्यावसायिक अनुभव: 41 वर्ष से अधिक समय तक शिक्षण कार्य; इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व कार्यवाहक कुलपति; शिक्षाशास्त्र विभाग के 11 वर्ष तक अध्यक्ष, कला संकाय के अधिष्ठाता एवं अकादमिक स्टाफ कालेज के निदेशक; बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के शिक्षा संकाय के आचार्य व संकाय प्रमुख रहे। लेखन अनुभवः 15 पुस्तकें, 67 मनोवैज्ञानिक परीक्षण व 100 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित

Book Details
Number of Pages: 163
Availability: Available for Download (e-book)
Other Books in Poetry

Shop with confidence

Safe and secured checkout, payments powered by Razorpay. Pay with Credit/Debit Cards, Net Banking, Wallets, UPI or via bank account trasnfer and Cheque/DD. Payment Option FAQs.