You can access the distribution details by navigating to My Print Books(POD) > Distribution

Add a Review

देश के बच्चे - मेरी कविताएँ

डा0 अनिल चड्डा
Type: Print Book
Genre: Children
Language: Hindi
Price: ₹130 + shipping

Also Available As

Also Available As
Price: ₹130 + shipping
Due to enhanced Covid-19 safety measures, the current processing time is 8-10 business days.
Shipping Time Extra

Description

बच्चे देश की धरोहर हैं । हमारे देश का निर्माण कैसे होगा और हमारा भविष्य कैसा होगा, यह बच्चों के पालन-पोषण तथा उनकी मानसिकता पर ही निर्भर करता है । माँ-बाप की सारी आशाएँ उन्ही पर टिकी रहती हैं । परन्तु आजकल का समाज बच्चों को क्या मूल्य दे रहा है, इस बारे में चिंतित होना आवश्यक है । एक तरफ एक्ल परिवारों का चलन, जिनमें नाना-नानी, दादा-दादी तथा अन्य रिश्तों का अभाव रहता है, तथा दूसरी तरफ किताबों का बोझ रहता है। माता-पिता भी अपने कामों में बहुत व्यस्त रहते हैं । फिर टेलीविजन का चलन । यह सब मिल कर बच्चों को सही दिशा दिखलाने के बजाय, राह भटका सकते हैं । उनको सही मूल्यों का ज्ञान कौन देगा ? उनके मन में उपजे कौतुहल का निदान कौन करेगा ? इस सब के बारे में आज के यंत्र-चालित जीवन में सोचने की किसको फुर्सत है । इसीलिये बच्चों के लिये साहित्य का अभाव है । यही बात मेरे मन को खटकती रहती थी । मैंने अपने मन को बच्चों के लिये ऐसी बाल-कविताओं की रचना की ओर लगाया, जिससे उनका मनोरंजन तो हो ही, उनके शिक्षाप्रद भी हों । इस ओर मेरा यह छोटा सा प्रयास है । प्रस्तुत संकलन में मैंने बाल-कविताओं द्वारा बच्चों को हमारे शाश्वत जीवन-मूल्यों के बारे में बताने की कोशिश की है । आशा है मैं अपनी कोशिश में कामयाब पाया जाऊँगा ।

About the Author

डॉ॰ अनिल चड्डा (जन्म—18 अक्तूबर, 1952) दिल्ली में जन्मे और पले-बढ़े हैं और इस समय सरकारी नौकरी में कार्यरत हैं। कविता बचपन से ही करते आ रहे हैं, शायद 14-15 वर्ष की उम्र से ही। दिल्ली से विज्ञान में स्नातक तक की पढ़ाई करने के बाद अपनी कविता-लेखन में निखार लाने के लिये इन्होंने हिन्दी-साहित्य में एम. ए. एवं पी. एच. डी. किया। इनकी कविताएँ सरिता, मुक्ता इत्यादि में प्रकाशित होती रही हैं। अभी हाल ही में दिल्ली से प्रकाशित श्रेष्ठ काव्यमाला(खंड-3) में इनकी रचनाएँ प्रकाशित हुई हैं। इनकी कविताएँ मुख्यत: इनके ब्लागों पर पढ़ी जा सकती हैं। इनकी कुछ रचनाएँ साहित्यकुंज शब्दकार जैसी ईपत्रिकाओं में भी पढ़ी जा सकती हैं। ‘देश के बच्चे – मेरी कविताएँ’ बच्चों की कविताओं का उनका पहला संकलन है ।

Book Details

Number of Pages: 69
Dimensions: 5.83"x8.27"
Interior Pages: B&W
Binding: Paperback (Perfect Binding)
Availability: In Stock (Print on Demand)

Ratings & Reviews

देश के बच्चे - मेरी कविताएँ

देश के बच्चे - मेरी कविताएँ

(Not Available)

Review This Book

Write your thoughts about this book.

Currently there are no reviews available for this book.

Be the first one to write a review for the book देश के बच्चे - मेरी कविताएँ.

Other Books in Children

Shop with confidence

Safe and secured checkout, payments powered by Razorpay. Pay with Credit/Debit Cards, Net Banking, Wallets, UPI or via bank account transfer and Cheque/DD. Payment Option FAQs.