You can access the distribution details by navigating to My Print Books(POD) > Distribution

Add a Review

दर्द और ख्वाब - कविता संग्रह

रोज इस उम्मीद के साथ उठता हूँ, आज दुनियां बदल जाएगी। रोज दुनियां बदल जाती है, उम्मीद नहीं।
मुरली मनोहर श्रीवास्तव
Type: Print Book
Genre: Literature & Fiction
Language: Hindi
Price: ₹155 + shipping
Price: ₹155 + shipping
Due to enhanced Covid-19 safety measures, the current processing time is 8-10 business days.
Shipping Time Extra

Description

वो आंसू ,
जो आज जीने और आगे बढने के लिये ,
गैर जरूरी के साथ ही बेमानी हो गये हैं ,
मैं उनके भीतर भी , टुकड़े देखता हूँ ,
और , न जानें क्यों ,
मुझे उनमें ,
अपनी जिंदगी नजर आती है ।
जिंदगी की हकीकत यह है कि वह न जाने कितने कठिन दौर से गुजरती है और फिर हर बार टूट कर खड़ी हो जाती है । जानते हैं क्यों ? क्योंकि जिंदगी हकीकत नहीं ख्वाब के सहारे जी जाती है । मैंने एक दिन अपनी कविताओं को देखा तो मुझे उसमें ढेर सारे दर्द और ख्वाब नजर आए ।
मुझे हंसी आ गई मैं सोचने लगा जिंदगी दर्द है या ख्वाब । फिर अहसास हुआ हर लम्हे में एक ही जिंदगी अलग अलग होती है और हम बस लम्हों को जीते है वे कभी ख्वाबा के होते हैं कभी हकीकत के ।
मैंने यहाँ वही ख्वाब और दर्द की भीड़ इककट्ठा कर के रख दी है । शेष आप जानिए : -

About the Author

नाम : मुरली मनोहर श्रीवास्तव
पिता का नाम : श्री विजय कुमार श्रीवास्तव
जन्म तिथि : 18 मई 1964
जन्म स्थान : प्रयाग राज , उत्तर प्रदेश
प्रकाशन : अमर उजाला , नवभारत टाईम्स , हिंदुस्तान दैनिक , राष्ट्रीय सहारा सहित देश के सभी प्रमुख पत्रों में एक हजार से अधिक रचनाएँ प्रकाशित ,
कविता संग्रह : 1 सत्य जीतता है हिन्दी अकादमी दिल्ली से सन 2000 में प्रकाशित
2 संभावना - रचना प्रकाशन दिल्ली से प्रकाशित - दैनिक जागरण द्वारा सन 2018 की श्रेष्ठ साहित्यिक रचनाओं में सम्मिलित
3 Possibility - संभावना का अग्रेजी अनुवाद किंडल द्वारा अमेरिका में प्रकाशित व सम्पूर्ण विश्व में उपलब्ध
4 ख्वाबों की जिंदगी मेरे 63 कवितायें किंडल पर ई बुक व पोथी पर पेपर बैक के रूप में प्रकाशित
व्यंग्य संग्रह : 5 गुरू गूगल दोऊ खड़े - pustakbazaar.com कनाडा से प्रकाशित व पेपर बैक पोथी पर उपलब्ध
6 घोडा ब्रांड क्रिकेटर - किंडल पर ई बुक के रूप में प्रकाशित व पोथी पर पेपर बैक के रूप में उपलब्ध
7 कहानी संग्रह : क्षमा करना पार्वती - दैनिक जागरण , जागरण सखी , मेरी सहेली जैसे पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित कहानियों का संग्रह pustakbazaar.com कनाडा से
प्रकाशित व पोथी पर पेपर बैक उपलब्ध
8 वह मैं हूँ - कविता संग्रह
निरंतर कुछ करते रहने व पाठकों द्वारा प्रदान किए जाने वाला स्नेह ही मेरे लिखने का आधार है ।

Book Details

ISBN: 9781638860488
Publisher: Notion Press
Number of Pages: 80
Dimensions: 5.5"x8.5"
Interior Pages: B&W
Binding: Paperback (Perfect Binding)
Availability: In Stock (Print on Demand)

Ratings & Reviews

दर्द और ख्वाब - कविता संग्रह

दर्द और ख्वाब - कविता संग्रह

(Not Available)

Review This Book

Write your thoughts about this book.

Currently there are no reviews available for this book.

Be the first one to write a review for the book दर्द और ख्वाब - कविता संग्रह.

Other Books in Literature & Fiction

Shop with confidence

Safe and secured checkout, payments powered by Razorpay. Pay with Credit/Debit Cards, Net Banking, Wallets, UPI or via bank account transfer and Cheque/DD. Payment Option FAQs.