You can access the distribution details by navigating to My pre-printed books > Distribution

(1 Review)

lifestyle bhag - 1 (eBook)

भाग - १
Type: e-book
Genre: Social Science, Self-Improvement
Language: Hindi
Price: ₹199
(Immediate Access on Full Payment)
Available Formats: PDF

Description

प्रत्येक व्यक्ति की जीवनशैली के प्रति एक कल्पना, एक व्यक्तिगत विचार, एक महत्वकांक्षा होती है, जिसे वह सदैव और अधिक उत्कृष्ट बनाने का प्रयास करता रहता है। बस इसी दिशा में अपने सुक्ष्म निरीक्षणों एवं अनुभवों को साझा करते हुए लेखिका ने इन छोटे-छोटे लेखों को रचनात्मकता दी है। लेखों को मूर्त रूप देने में लेखिका का अनुभव, सुक्ष्म अवलोकन और अनुसंधान आधारभूत रहा है। एक संखिकीय एवं बैंकिंग की पृष्ठ भुमि के व्यक्ति का हिन्दी भाषा प्रति ऐसा लगाव एवं प्रभुत्व विरले ही देखने मे आता है।
यह लेखमाला दैनिक जीवन में आने वाले अनुभवों को सुंदर रूप से अभिव्यक्त करते है वहीं उनके पीछे छिपे कारणो का विश्लेषण कर हमारा मार्गदर्शन भी करते है। यह छोटे-छोटे लेख लेखिका की सामाजिक परिवेश की विस्तृत जानकारी, व्यवहार ज्ञान के साथ ही व्यंग एवं मनोरंजक प्रस्तुति के कारण पठनीय बन पड़ी है। लेखों की भाषा सरल हिन्‍दी है जिसमें आवश्‍यकतानुसार प्रचलित अंग्रेजी शब्‍दों का प्रयोग बहुतायत से किया गया है। लेख घर की बोलचाल भाषा में हैं जो सीधे अन्तर्मन को स्पर्श करते हैं। लेख जीवन के प्रति सकारात्‍मक और सार्थक दृष्टिकोण प्रदान करते हैं, हमें जीने की राह दिखाते हैं और प्रेरणा देते हैं। इस प्रकार यह लेख आध्‍यात्मिक जीवन जीने की मार्गदर्शिका के समान हैं जो बच्‍चों और बड़ों दोनों के लिए ही समान रूप से उपयोगी हैं। कई स्‍थानों पर लोकोक्तियों मुहाबरों या लोक प्रसिद्ध उक्तियों से बात समझाई गई है जैसे - ऐसी बाणी बोलिए मन मन का आपा खोय, वहीं कई स्‍थानों पर लेखिका ने अपने शब्‍दों को ही काव्‍यात्‍मक रूप से ढ़ालकर हृदयस्‍पर्शी बना दिया है। सभी लेख आध्‍यात्मिक दृष्टिकोण से लिखे गये हैं जो जीवन की वास्‍तविकता से अवगत कराते हुए सुखी, संतोषी और संयमी जीवन जीने की राह दिखाते हैं। पुस्‍तक का प्रत्‍येक लेख अपने आप में विशिष्‍ट तथा उपयोगी है। सभी लेख जीवन के किसी न किसी ऐसे पहलू की ओर ध्‍यान आकृष्‍ट करते हैं जो बैसे तो बहुत सामान्‍य है परंतु जिन पर समान्यतः हमारा ध्‍यान ही नहीं जाता। बातें साधारण हैं परंतु वह असाधारण रोचकता के साथ प्रस्‍तुत की गई हैं। यही लेखिका की सफलता है।

About the Author

श्रीमती सौम्या श्रीवास्तव एक सेवानिवृत्त बैंकर एवं समाजसेवी महिला हैं। आपने वर्ष १९८० में विक्रम विश्वविद्यालय, स्कूल ऑफ स्टडीज के सांख्यकीय संकाय से स्नाकोत्तर की उपाधि प्रवीणता से प्राप्त की है। पढ़ाई में आप हमेशा से प्रतिभावान रही हैं। आपने बैंकिंग सेवा के साथ-साथ निर्धन विध्यार्थियों को निःशुल्क कोचिंग एवं काउंसिलिंग प्रदान कर असंख्य युवाओं को उनके जीवन में प्रगति पथ पर अग्रसर किया है। लगभग 38 वर्ष के बेंकिंग जीवन में सदैव उत्कृष्ठ सेवाएँ दीं और अनेक बार पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र प्राप्त किये हैं। बैंक सेवानिवृत्ति के पश्चात अब आप पुर्ण रूप से लेखन एवं समाज सेवा के लिए समर्पित है।

Book Details

ISBN: 9789359676142
Publisher: Self Publishing Powered by Pothi.com
Number of Pages: 159
Availability: Available for Download (e-book)

Ratings & Reviews

lifestyle bhag - 1

lifestyle bhag - 1

(5.00 out of 5)

Review This Book

Write your thoughts about this book.

1 Customer Review

Showing 1 out of 1
Prashant Chitnis 5 months, 1 week ago

Lifestyle Bhag - 1

सोम्या जी ने रोज़मर्रा जीवन के छोटे छोटे प्रसंगो का सूक्ष्म अध्ययन कर एक रचना प्रस्तुत की है। यह लेखमाला उनके गहन अनुभव, विस्तृत अध्ययन और विचार मंथन का परिचायक है। लेखों की भाषा शैली समान्य प्रेषण में उपयोग में आने वाली प्रवाह युक्त है। बीच बीच मे अंग्रजी के शब्दों का प्रयोग विषय को समझने मे सहायक है। लोकप्रिय मुहावरों और दोहों का प्रयोग पाठक को बंधे रखता है। यह पुस्तक हर उम्र के पाठकों के लिए मार्गदर्शक का कार्य करती है।

Other Books in Social Science, Self-Improvement

Shop with confidence

Safe and secured checkout, payments powered by Razorpay. Pay with Credit/Debit Cards, Net Banking, Wallets, UPI or via bank account transfer and Cheque/DD. Payment Option FAQs.